Header Ads

Internet Of Things क्या है ? IOT के बारे में जाने hindi में |

Internet of things(IOT) यानि की internet से जुडी वह सभी चीजे जो कि हम रोजाना काम में लेते है  | जो की आपस में एक दुसरे से communicate कर सकते हो | IOT शब्द का सबसे पहले उपयोग केविन एशटन के द्वारा किया गया था | जिनका कहना था कि internet of things की प्रणाली से पूरी दुनिया को आसानी से internet के द्वारा  जोड़ा जा सकता है | यदि आप सोच रह हो की internet of things में केवल smartphone और computer ही आते है तो आप यहाँ पर आप गलत है | IOT के अंदर बहुत सी चीजे आती है जो आपकी सोच से बिल्कुल बाहर है | इसलिए आज मै आपको internet of things के बारे में पूरी डिटेल्स में बताने जा रहा हूँ | इसलिए आपसे निवेदन है कि आप इस पोस्ट को पूरा पढ़े |

internet-of-things-iot-kya-hai-hindi


Internet of things यह नेटवर्क के क्षेत्र में सबसे बड़ी सफलता मानी जाती है | हम इस प्रणाली की मदद से सभी भौतिक वस्तुए को एक दूसरे से जोड़ा जा सकता है | जिससे हमको कोई भी प्रॉब्लम नहीं होती है जैसे हमने की cctv को इंटरनेट से कनेक्ट कर उसको कही से भी कंट्रोल कर सकते हो | इसी प्रकार बहुत सी चीजे है जो की इंटरनेट की सहायता से कनेक्ट करके उन्हें कही से भी कंट्रोल  किया जा सकता हैं | IOT की मदद से हम कही से भी डाटा को भेज सकते है या फिर उसे मगंवा सकते हो | 

इसे भी पढ़े :-


IOT क्या है ?
मै आपको बता दूँ कि IOT एक ऐसी प्रणाली है जिसमें ऐसे device जुड़े रहते है जो कि internet से जुड़ कर अपने काम को खुद करने की काबिलयत  रखते है इन्हे आप दुनिया के किसी भी कोने से कण्ट्रोल कर सकते हो | इस प्रणाली को नॉन-स्क्रीन कंप्यूटिंग कहा जाता है यानि की वो device जो की computer की तरह काम और सोच सकते है लेकिन उनमें स्क्रीन नही होती है इसलिए IOT को नॉन-स्क्रीन कंप्यूटिंग भी कहा जाता है | जेसे की आप देखते ही होंगे कि अब ज्यादातर कंपनियों में ऐसे मशीन लगाई जाती है जो की अपना काम खुद करती है| इस विधि की सहायता से हम अपने device को internet से कनेक्ट करके अन्य दुसरे device को भी उससे जोड़ सकते है |


IOT के Example :-

internet-of-things-iot-kya-hai-hindi


माना कि कोई व्यक्ति अपने घर में अकेला रहता है तो वह अपने घर की सिक्यूरिटी के लिए internet से जुड़े CCTV कैमरा लगा सकता है जिससे की यदि उसके घर में कोई भी घुसता है तो उसे notification को भेज सके और वह इस तरह से अपने घर को सिक्योर कर सकता है |

इसे भी पढ़े :-



यदि कोई व्यक्ति अपने काम के लिए जल्दी जल्दी में अपने घर के पंखो को ऑन छोड़ कर चला जाये तो वह पंखा अपने आप off हो जाये इसी के साथ ही जब वह ऑफिस से घर आये और जेसे ही उसमे प्रवेश करे तो वह आटोमेटिक ऑन हो जाये |

अब तो एसी लाइट भी आने लगी है जो की घर से बाहर लगाने पर वह कोई भी हलचल होने पर वह आटोमेटिक ऑन हो जाती है |

Industry में इसका महत्व बढ़ता हो जा रहा है क्योकि इनमे काम आने वाली सभी मशीन और रोबोट्स को उन्हें internet से जोड़ कर कही से भी हैंडल किया जा सकता है |

इसे भी पढ़े :-



IOT से समय की बचत :-
आपको पता ही होगा कि internet से जुडी सभी चीजे चाहे वह कुछ भी हो अपना काम तेजी से करती है | इसी प्रकार जब से IOT का महत्व बढ़ा है जब से लोगो के पास टाइम भी होने लगा है | इसी के साथ IOT एक ऐसे समय को लेकर आया है जिससे लोग अपने काम को सुविधा के साथ साथ समय की भी बचत करने लगे है IOT की मदद से ऐसे उपकरण तेयार किये गए है जिनकी सहायता से आप अपने काम को समय से पहले ही कर सकते हो जेसे की कही पर आपको अपनी कार को पार्क करना है जहां पर केवल एक ही कार को पार्क करने की जगह है आप वहाँ पर ज्यादा टाइम लगा सकते हो लेकिन यदि आप इस काम को IOT से बनी कार से करते हो तो यह काम जल्दी हो जाता है क्योकि इसमे सेंसर होने के कारण यह अपने आप दिशा और रिक्त स्थान का अनुमान लगा लेती है | ऐसे और भी उदाहरण है |
इसी प्रकार से आप जब भी कोई  e-commerce website  पर जाते हो और वहा पर आपने क्या search किया है इसी के आधार पर वह आपको उसी के हिशाब से विज्ञापन को देता रहता है इसको आपके बारे में पता लग जाता है की आपको किया पसंद है | इससे उनका टाइम बच जाता है की उनको अलग अलग विज्ञापन को नही दिखना पड़ता | इससे उनका भी काफी टाइम बच पाता है |



IOT का भविष्य :-
आप अभी से ही अंदाजा लगा सकते हो की आने वाले समय में IOT का भविष्य क्या होने वाला है |  IOT का मानना है कि इस पूरी दुनिया में उसके लगभग 1200 करोड़ उपकरण है इसी के साथ इनका यह भी कहना है इन उपकरणों की सख्या आने वाले समय में 26 गुना तक बढ़ जाएगी | जो की उनकी बड़ी कामयाबी होगी |  इसका मतलब की IOT का व्यापार 2020 तक 7.1 ट्रिलियन डॉलर तक बढ़ जाएगा | आप IOT के इन्ही आकड़ो से ही इनका अंदाजा लगा सकतो हो कि फेलाव कितना होने वाला है और इनकी कितनी मांग होने वाली है |

Internet of things के मुख्य भाग :-
Intelligense :-
यह पार्ट IOT का एक विशेष पार्ट है है जिसमे यह स्मार्ट बन पाते है | इसके अंतर्गत algoritham ,calculation ,hardware और सॉफ्टवेर आते है जिससे के कारण यदि कोई कार्य  अलग तरीके से होता है तो वह उस अपने तरीके से करने का आर्डर देता है जो की उसके अंदर सेट किये गए है |

Sensor :-
आपको पता ही होगा की यदि कोई चीज automatic तरह से काम करती है तो वह उस काम को बिना सेंसर के नही कर सकती है | इसलिए सेंसर का इसमे बड़ा योगदान होता है | IOT  के उपकरणों को काम करने के लिए जो भी उपदेश मिलते है वह सभी सेंसर के द्वारा ही संभव है | चाहे वो फिर कुछ भी हो | यदि आपने किसी कमरे में AC को on रखा हुआ है और आप वहा से उसे बिना off किये चले जाते हो तो वह automatic बंद हो जाएगी |

इसे भी पढ़े :-


Connectivity
जो सबसे पहले जरुरी है इसमे आपको उपकरण को किसी भी प्रकार से इन्टनेट से जोड़ना होता है जिससे की वह उपकरण internet के जरिये आपके काम को पूर्ण कर सके | क्योकि बिना Internet के आप उपकरण को IOT से नही जोड़ सकते हो |


IOT का हमारे जीवन में प्रवेश :-


Smart City को बनाने में :-
स्मार्ट सिटी को बनाने में IOT का बड़ा योगदान होने वाला है क्योकि आपने देखा होगा कि अपने आस पास की सडको पर लगे cctv कैमरे अब ऑनलाइन internet से कनेक्ट होंते है जिन्हें वह कही से हैंडल कर सकते है | इसी के साथ आप घरो में भी IOT का प्रवेश देख रहे होंगे जेसे की यदि आप कभी अपने घर की लाइट या फेन को on 'छोड़ जाते हो तो वह आपके पास एक मेसेज सेंड करता है जिससे आपको पता लग जाता है की आपने फेन को off  नही किया तो आप उसे वही से हैंडल कर सकते हो | इसी तरह से आप अपने सिटी में ओर भी काम देखते हो जो की IOT के अंतर्गत आते है इस प्रकार से IOT का फेलाव बढ़ता ही जा रहा है |
internet-of-things-iot-kya-hai-hindi


ग्राहक सेवा :-
IOT अपना योगदान ग्राहक सेवा में भी दे रहा है जेसे आपने देखा ही होगा कि बड़े बड़े मोलो में सभी काम अब automatic होने लगे है ग्राहक को क्या पसंद है और उसे किस तरह का विज्ञापन देना चाहिए | इसके आलावा कस्टमर रिलेशनशिप मेनेजमेंट के माध्यम से बिक्री बढ़ाने में लाभदायक है | IOT ने ऐसे device को भी बनाया है यदि किसी भी ग्राहक को कोई परेशानी होती है तो वह इस सूचना को कंपनी को सेंड करता है जिससे वह उसका समाधान कर सके | इसका सबसे बड़ा ग्राहकों को यह की इसकी मदद से यह अपनी बात को सीधा कंपनी तक पहुंचा सकते है |

इसे भी पढ़े :-



IOT भोजन को रखेगा सेफ :-
IOT आज के टाइम भोजन को सेफ रखने के लिये iot नए नए device का निर्माण करते जा रहा है | जिससे की भोजन ख़राब न हो सके | फ़ूड कंपनियों में इनका इस्तेमाल ज्यादा होता है | इनके अंदर भोजन के ताप को कण्ट्रोल करने के लिए हिट सेंसर लगये जाते है जिससे की ताप कम या ज्यादा होता है तो उसे कण्ट्रोल कर सके | इसके बाद यदि फ़ूड में कुछ भी कमी होती है तो ये device रिपोर्ट तेयार करके उसे कंपनी को सेंड कर देता है जिससे की उस पर तुरंत एक्शन लिया जा सके | जिससे ग्राहक को कभी भी कोई प्रॉब्लम न हो सके |

Wearable Technology :-
wearable technology के अंतर्गत आपको पता ही होगा कि सभी पहनने वाले उपकरण आते है | जेसे - smart watch ,smart shoes और smart cloths आदि आते है ये सभी चीजे internet of things के अतर्गत आती है | आपने smart watch के सभी फंक्शन के बारे में पता ही होगा जो कि हमारे बॉडी का भी ख्याल रखते है यह हमें बताती रहती है कि आप कब सोये और कब जागे क्योकि इसके अंदर अपनी धड़कन को पकड़ने के लिए सेंसर होते है जिससे यह बता पाती है कि आपका इस टाइम पर bp केसा है जिससे आप उसे कण्ट्रोल कर सके |

इसे भी पढ़े :-




Nest smart thermostat :-
यह device अपने घर के तापमान को मेन्टेन रखता है यह device internet के द्वारा जुडा होता है | इसमे आपके घर को automatic ठंडा और गर्म करने का option होता है यह device  एक सुविधा होती है की यदि सर्दियों में आपका घर ज्यादा ठंडा होता है तो वह उसे गर्म कर देता है उसी के साथ यदि गर्मियों में ज्यादा गर्म होता है तो वह उसे ठंडा कर देता है |



मै आशा करता हूँ कि internet of things को आप पूरा डिटेल्स से समझ गए होंगे | मेने आपको इस पोस्ट के जरिये अपनी IOT की छोटी सी नॉलेज को शेयर करा है | यदि आपको भी यह पोस्ट पसंद आये तो आप इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयरजरुर करे |
आपके कीमती समय के लिए धन्यवाद |

About Author

2 comments:

Powered by Blogger.